यूपीपीएससी परीक्षा की तैयारी कैसे करे



UP PCS Preparation Books in Hindi

पीसीएस को हिंदी में प्रांतीय सिविल सेवा कहते है, और इंग्लिश में Provincial ivil Service कहा जाता है| इसे राज्य सिविल सेवा भी कहा जाता है| इस परीक्षा का आयोजन राज्य सेवा आयोग द्वारा किया जाता है| इस परीक्षा के माध्यम से राज्य के विभिन्न आवश्यक पदों पर नियुक्तियां की जाती है| यह पद राज्य सरकार के नियंत्रण में होता है| सबसे खास बात यह है, कि आपका चयन पीसीएस में हो जानें पर आपको किसी दूसरे राज्य में ट्रान्सफर नही किया जा सकता है।

पीसीएस बनने के लिए आपको राज्य सेवा आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली प्रतियोगी परीक्षा को उत्तीर्ण करना होगा। इस परीक्षा का आयोजन तीन चरणों प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार में किया जाता है| प्रत्येक परीक्षा का एक निर्धारित सिलेबस होता है, जो आपको परीक्षा में सफलता दिलानें में सहायक होता है, क्योंकि सिलेबस की सहायता से आपको यह ज्ञात हो जाता है, कि आपको क्या पढ़ना है, और कितनी तैयारी करनी है|

 यूपीपीएससी परीक्षा की तैयारी कैसे करे (Prepration Tips)

एक्सपर्टस के मुताबिक, परीक्षा की तैयारी में यदि रणनीति बनाकर पढ़ाई की जाए तो सफलता आसानी से प्राप्त की जा सकती हैं। वहीं छोटी-छोटी गलतियां बड़ी चूक बन सकती हैं। बेहतर होगा कि परीक्षा के दौरान घबराएं नहीं, सोच समझकर उत्तर दें। पीसीएस परीक्षा राज्य केंद्रित परीक्षा होती है, इसलिए अभ्यर्थी जिस भी राज्य में परीक्षा देने जाते हैं, उन्हें उस राज्य के इतिहास, भूगोल, अर्थव्यवस्था और राजनीतिक व सामाजिक संरचना के बारें में अच्छी जानकारी होनी चाहिए|

1.भूगोल से इतिहास तक रखें ध्यान (History & Geography)

इस परीक्षा में राज्य से संबधित अनेक प्रश्न पूछे जाते हैं, अधिकांश प्रश्न राज्य को ध्यान में रखकर पूछे जाते हैं। हालांकि परीक्षा के पैटर्न में हुए बदलाव की वजह से परीक्षा में पूछे जाने सवालों में थोड़ा बदलाव आएगा, लेकिन राज्य के इतिहास भूगोल, अर्थव्यवस्था, राजनीतिक और सामाजिक संरचना के बारे में पूरी जानकारी रखें। यूपी पीसीएस की परीक्षा के लिए उत्तर प्रदेश के तथ्यों की बेहतर जानकारी होना आवश्यक है ।

2.प्रतिदिन नियमित रूप से पढ़े अखबार (News Paper)

इस परीक्षा में सफलता प्राप्त करनें के लिए नियमित रूप से अखबार अवश्य पढ़े, साथ ही संपादकीय पेज जरूर पढ़े। इससे आपके सोचने की क्षमता बढ़ती है। परीक्षा के दौरान यह काफी लाभदायक सिद्ध होता है।

3.सामान्य ज्ञान पर विशेष ध्यान (General Knowledge)

पीसीएस परीक्षा यूपीएससी की तर्ज पर होती है, इसलिए अभ्यर्थी को सफलता प्राप्त करनें के लिए विशेष रूप से सामान्य ज्ञान पर ध्यान देना होगा| इस परीक्षा में बैठने के लिए अभ्यर्थी को देश-विदेश में घटनें वाली अनेक घटनाओं की जानकारी होनी चाहिए| अभ्यर्थी अखबार, न्यूज़ वेबसाइट पढ़ कर खुद को ज्यादा से ज्यादा अपडेट रख सकते हैं। इस परीक्षा में करेंट अफेयर्स की काफी अहम भूमिका होगी| इसके लिए छात्रों को प्रीलिम्स का सलेबस शॉर्टआउट कर और उस पर काम करना चाहिए|

4.पिछले साल के पेपर का अभ्यास करें (Previous Year Paper)

पीसीएस परीक्षा के पुराने पेपर को अनिवार्य रूप से हल करें| आप पिछले साल के प्रश्न पत्रों के माध्यम से प्रयास करें और परीक्षा में किस प्रकार के प्रश्न पूछे जा रहे हैं, इस बारे में किसी न किसी प्रकार का विचार प्राप्त करने का प्रयास करें| परीक्षा में शामिल होनें वाले अभ्यर्थियों को प्रश्नपत्रों का विश्लेषण करना चाहिए और जहां से हाल ही में प्रश्न बड़ी संख्या में पूंछे गये हैं, उन क्षेत्रों का पता लगाने की कोशिश करनी चाहिए|

5.एनसीईआईआरटी की बुक्स पढ़े (NCERT Books)

एक्सपर्ट्स के मुताबिक मॉक टेस्ट से अभ्यास करना सबसे अधिक कारगर होता है, प्रीलिम्स से पहले कम से कम 10-12 मॉक टेस्ट जरूर दें| इसके अलावा, ऑनलाइन स्रोतों से मार्गदर्शन लिया जा सकता है| बुनियादी अध्ययन सामग्री एनसीईआरटी, बेसिक बुक्स अनिवार्य रूप से पढ़ें|

पीसीएस परीक्षा की तैयारी हेतु महत्वपूर्ण बुक्स (Important Books)

क्र०सं० विषय लेखक एवं प्रकाशक
1. कला एवं संस्कृति नितिन सिंघानिया
2. पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी राजगोपालन
3. भारत का राष्ट्रीय आंदोलन बिपिन चंद्र
4. भारत का प्राचीन, मध्यकालीन तथा आधुनिक इतिहास एस.के. पांडे
5. सामान्य विज्ञान लूसेंट विशेष
6. विश्व का इतिहास दीनानाथ वर्मा / TMH प्रकाशन
7. भारतीय राजव्यवस्था एम. लक्ष्मीकांत
8. भारत का संविधान ब्रज किशोर शर्मा
9. भारत व विश्व का भूगोल महेश वर्णवाल / माजिद हुसैन /
10. भारतीय अर्थव्यवस्था एस.एन. लाल
11. अंतर्राष्ट्रीय संबंध तपन बिस्वाल
12. समसामयिक घटनाक्रम बिपिन चंद्र
13. आपदा प्रबंधन करेंट अफेयर्स, न्यूज़ पेपर, इन्टरनेट आदि
14. राज्य विशेष पाठ्य सामग्री संबंधित राज्य के प्रकाशन विभाग द्वारा प्रकाशित ‘राज्य विशेष पुस्तक’
नोट:- इन पुस्तकों के अलावा ऑक्सफोर्ड एटलस, इग्नू के नोट्स, योजना तथा कुरुक्षेत्र का अध्ययन करना लाभदायक रहता है।

 


Leave a Comment