UP Lekhpal Salary 2018 Pay Structure (7th Pay Commission)

UP Lekhpal Salary

राजस्व परिषद नें उत्तर प्रदेश शासन से वेतन वृद्धि की सिफारिश की है, जिसके अंतर्गत प्रति माह 300 रुपये से 3,250 रुपए प्रति वर्ग के भत्ते में वृद्धि होगी, परिषद् द्वारा 10 वर्षों में मुद्रास्फीति में वृद्धि और अन्य राज्यों में प्राप्त भत्तों के आधार पर वेतन का 25 प्रतिशत और न्यूनतम पांच हजार रुपये का भत्ता चुकाने की मांग की गयी है |

सरकारी कार्य के लिए प्रति माह लगभग 30 लीटर पेट्रोल का व्यय होता है, जिसमे लगभग 2000 रुपये प्रति माह का अतिरिक्त खर्च आता है, राजस्व परिषद नें विशेष वेतन भत्ते के अंतर्गत 1500 रु० प्रति माह और पेट्रोल भत्ता के लिए 1000 रु० प्रति माह देने की सिफारिश की गयी है |

लेखपाल का वेतन (Salary of Lekhpal)

वेतन स्लैब (वेतन बैंड) 6 वां सीपीसी 7 वां सीपीसी
1 एस – 1,2,3,4,5,6,7,8 रु० 5200 – रु० 20200 रु० 15,000 – रु० 60,000
2 एस – 9,10,11,12,13,14,15 रु० 9300 – रु० 34800 रु० 30,000 – रु० 1,00,000
3 एस – 16,17,18,19,20,21,22,23 रु० 15,600 – रु० 39,100 रु० 50,000 – रु० 1,50,000
4 एस – 24,25,26,27,28,29,30 रु० 37,400 – रु० 67,000 रु० 1,00,000 – रु० 2,00,000

 

रजिस्टर और स्टेशनरी के लिए भत्ता प्रति माह 100 रुपये मिलता है, जिसको बढ़ा कर परिषद ने 750 रुपये प्रति माह करने की सिफारिश की हुई  है |

लेखपाल का वर्तमान वेतन और पूर्व वेतन में अंतर (Difference Between Old Salary And New Salary)

लेखपालों का पुराना वेतन-19035 रुपए दिया जाता है, इसके अंतर्गत वेतन 6460 रुपए, 2000 ग्रेड पे और 10570 रुपए डीए को सम्मिलित किया गया है, नए वेतन- 21742 रुपए निर्धारित किया गया है, फार्मूले के अनुसार मूलवेतन में 2.75 का गुणा करने पर 21742 रुपए वेतन होता है, इसलिए दूसरे स्लैब का वेतन 22,400 नया वेतन हो जायेगा |

उत्तर प्रदेश सरकार नें लेखपाल के लिए आकर्षक वेतन रखा है, जिसके कारण इस परीक्षा में प्रतिस्पर्धा का स्तर बहुत अधिक होनें की संभावना है, इसलिए अभ्यर्थियों को इस परीक्षा की तैयारी बहुत ही लगन और एकाग्रता से करनी चाहिए, जिससे परीक्षा में आपकी सफलता निश्चित हो सके |

Related Links